PM inaugurates National Museum of Indian Cinema////PM visits Silvassa in Dadra & Nagar Haveli///Prime Minister of Czech Republic Calls on The President///विपक्ष को नहीं EVM पर भरोसा, ये 4 नेता चुनाव से पहले फिर पहुंचेंगे इलेक्शन कमीशन की चौखट पर///प्रधानमंत्री ने अफ्रीकी देशों को ‘शीर्ष प्राथमिकता’ में शामिल किया : सुषमा स्वराज////नितिन गडकरी ने BJP कार्यकर्ताओं से कहा, 'मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने का लें संकल्प'///
Home | Latest Articles | Latest Interviews |  Past Days News  | About Us | Our Group | Contact Us
नवोदय विद्यालयों की तर्ज पर नये एकलव्य मॉडल
नवोदय विद्यालयों की तर्ज पर नये एकलव्य मॉडल आवासीय स्कूल बनाए जाएंगे


नई दिल्ली: केन्द्रीय मंत्री जुएल उरांव ने बुधवार को कहा कि नवोदय विद्यालयों की तर्ज पर आदिवासियों के लिए 2022 तक 462 नये एकलव्य मॉडल आवासीय स्कूलों (ईएमआरएस) का निर्माण किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इन स्कूलों में स्थानीय कला और संस्कृति को संरक्षित करने के लिए विशेष सुविधाएं होंगी.

आदिवासी मामलों के मंत्री ने कहा कि नवोदय विद्यालय समिति की तर्ज पर ईआरएमएस को संचालित करने के लिए सरकार एक स्वायत्त समिति का गठन करेगी.

आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति से अनुसूचित जनजाति (एसटी) की 50 प्रतिशत से अधिक आबादी और कम से कम 20,000 आदिवासी वाले सभी जिलों और प्रखंडों में 2022 तक 462 नये ईएमआरएस स्थापित करने की मंजूरी मिलने के दो दिनों के बाद उरांव की यह घोषणा सामने आई है.
मंत्री ने कहा कि इस समय देश में 284 ईएमआरएस है जिसमें से 219 कार्य कर रहे हैं. सरकार ने 2022 तक 462 नये ईएमआरएस खोलने की घोषणा की है. उन्होंने कहा कि ईएमआरएस नवोदय विद्यालयों की तर्ज पर होंगे और इन स्कूलों में खेलों और कौशल विकास प्रशिक्षण मुहैया कराने के अलावा स्थानीय कला और संस्कृति को संरक्षित करने के लिए विशेष सुविधाएं होंगी.

मंत्रालय के आंकड़े के मुताबिक, 462 नये ईएमआरएस में से ओडिशा में 92, झारखंड में 70, छत्तीसगढ़ में 50 और मध्य प्रदेश में 40 स्कूलों की स्थापना की जाएगी.
(UPDATED ON DECEMBER 19TH, 2018)