जम्‍मू-कश्‍मीर: भीड़ ने कॉन्‍स्‍टेबल को पीट-पीटकर किया अधमरा, जान जोखिम में डाल ASP ने बचाई जिंदगी///PM Modi ने दो लाइन में कर दिया विपक्ष का पटाक्षेप////मोदी सरकार के खिलाफ अविश्‍वास प्रस्‍ताव गिरा, सरकार के पास 325 का आंकड़ा///President addresses annual convocation of IIT Kharagpur//// J P Nadda addresses 8th BRICS Health Ministers’ Meeting at Durban///मलिक और राजकुमार सैनी दोनों गैर जिम्मेदार: कैप्टन////राहुल की 'झप्पी' पर भड़कीं लोकसभा स्पीकर, बोलीं- यह सदन की गरिमा के खिलाफ है////मुजफ्फरपुर अल्पावास गृह मामले में खुलासा, 29 नाबालिग बच्चियों से दुष्कर्म की हुई पुष्टि///
Home | Latest Articles | Latest Interviews |  Past Days News  | About Us | Our Group | Contact Us
महागठबंधन -टूट सकता है कांग्रेस का सपना



कोलकाता: सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय स्तर पर विपक्षी पार्टियों का महागठबंधन बनाए जाने की संभावना से इनकार कर दिया. येचुरी ने कहा कि इस तरह का गठबंधन लोकसभा चुनावों के नतीजे की घोषणा के बाद ही हो सकता है.

उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा, "मेरा यह मानना है कि भारत में चुनाव के पहले कोई भी महागठबंधन बनाना संभव नहीं है, क्योंकि हमारा देश विविधताओं वाला है." उन्होंने कहा, "इस बार भी आप वैसा ही देखेंगे, जैसा 1996 में देखने को मिला था जब संयुक्त मोर्चा ने सरकार बनाई थी और 2004 में जब यूपीए -1 सरकार बनी थी."

येचुरी ने कहा कि देश के लोग केंद्र की ‘जनविरोधी सरकार’ से छुटकारा पाना चाहते हैं लेकिन ‘वैकल्पिक धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक सरकार’ लोकसभा चुनाव के बाद ही बन सकती है. सीपीएम महासचिव ने कहा कि क्षेत्रीय धर्मनिरपेक्ष ताकतें भी आम चुनाव के बाद एकसाथ आएंगी. हालांकि , उन्होंने वैकल्पिक धर्मनिरपेक्ष मोर्चा का नाम नहीं बताया. यह पूछे जाने पर कि क्या सीपीएम वैकल्पिक धर्मनिरपेक्ष मोर्चा का हिस्सा बनेगी तो उन्होंने कहा, "हमारी पार्टी ने केंद्र सरकार को बाहर से समर्थन दिया था. हमने ऐसा 1989, 1996 और 2004 में किया था."(Updated on July 12th, 2018)